इस जादुई लालटेन को
टच करके देखो !
👇👇👇
















































































































































[Your Name]






बाह रही अजीब हैं नादान-ए-दिल की खवाइश,

या रब अमल कुछ नहीं और दिल तलबगार हैं जन्नत का!,

ए अल्लाह एक मौका हमको भी दे सफर-ए-मक्का का, ,

सुना हैं तेरे घर और जन्नत में कोई फर्क नहीं!

जुम्मा मुबारक

[Your Name] की तरफ से जुम्मा मुबारक